No icon

PWL-4: Sakshi Malik wins first battle for Delhi Sultans

साक्षी ने दिल्ली सुल्तांस को दिलाई पीडब्लूएल-4 में पहली जीत

  • रियो ओलम्पिक गेम्स की कांस्य पदकधारी ने टाई के अंतिम व निर्णायक मुकाबले में कड़े संघर्ष के बाद एशियन चैम्पियन नवजोत कौर को हराया
  • दिल्ली ने यह टाई यूपी दंगल से 4-3 के नजदीकी अंतर से जीती

पंचकूला। रियो ओलम्पिक गेम्स की कांस्य पदकधारी साक्षी मलिक ने दिल्ली सुल्तांस को यहां ताऊ देवी लाल स्टेडियम में चल रही प्रो रेस्लिंग लीग (पीडब्लूएल) के चौथे सत्र में पहली जीत दिलाई। उन्होंने कम स्कोर वाले निर्णायक मुकाबले में एशियन चैम्पियनशिप की स्वर्ण पदक विजेता नवजोत कौर को हरा दिया। दिल्ली ने यह टाई यूपी दंगल से 4-3 के नजदीकी अंतर से जीती।

यह साक्षी का इस सत्र में पहला और आज की टाई का अंतिम मैच था। उन्होंने 62 किलो के इस महिला मुकाबले में बहुत ही सतर्कता के साथ शुरुआत की और कड़ी मुशक्कत के बाद यूपी दंगल  की एशियन चैम्पियन की चुनौती पर काबू पाया। वैसे दोनों भारतीय स्टार पहलवानों का स्कोर 1-1 रहा लेकिन साक्षी को अंतिम अंक मिलने के कारण जीत मिली। 

इससे पहले शुक्रवार की शाम को यहां ताऊ देवी लाल स्टेडियम में टाई का पहला मुकाबला दिल्ली सुल्तांस के पंकज पर वर्ल्ड जूनियर चैम्पियनशिप- 2018 के रजत पदकधारी नवीन के बीच था। 57 किलोग्राम कटेगरी के इस मुकाबले में पंकज यूपी योद्धा के पहलवान की ख्याति के आगे विचलित नजर नहीं आए। उन्होंने पूरी कुश्ती दौरान आक्रामक रुख अपनाया और 7-0 से जीत हासिल करके दिल्ली को शुरुआती बढ़त दिलाई। नवीन ने हालांकि दूसरे  राउंड के आखिरी समय में कुछ कोशिश जरूर की लेकिन वह पंकज की डिफेंस को भेद नहीं सके। 

साल 2017 की एशियन चैम्पियनशिप की रजत पदक विजेता सरिता के लिए मुकाबला अग्नि परीक्षा थी और वह उसमें खरी उतरीं और विजयी होकर निकलीं। उन्होंने दिल्ली सुल्तांस की रोमानियाई पहलवान कैथेरिना झयदेचिवस्का के खिलाफ 57 किलो कटेगरी का महिला मुकाबला जीतकर यूपी को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। सरिता पहले राउंड में किसी तरह से एक अंक बनाने में सफल रहीं और उन्होंने  ब्रेक के बाद टेकडाउन के जरिये दो अंक बनाए। इस तरह वह 3-0 से मुकाबला जीतने में सफल हुईं।    

74 किलो कटेगरी के मुकाबले में दिल्ली सुल्तांस के रूसी कप्तान खेतिक त्साबालोव पहला राउंड खत्म होने के समय यूपी दंगल के जितेंदर से एक अंक से पिछड़ रहे थे। लेकिन ब्रेक के बाद एक पटकी और दो नीयर फॉल दांव लगाकर दिल्ली के कप्तान ने आठ अंक बटोरकर हालात अपने नियंत्रण में ले लिये। जितेंदर एक जवाबी हमले खेतिक को पटकी देने में कामयाब हुए। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी और जितेंदर 3-8 से हार गए। कप्तान की जीत से सुल्तांस 2-1 की बढ़त पर आ गए।

टाई के चौथे मुकाबले में आज का सबसे बड़ा उलटफेर देखने को मिला। जब राष्ट्रीय चैम्पियन पिंकी ने पासा पलटते हुए 2018 यूरोपियन चैम्पियनशिप की रजत पदक विजेता वेनेसा कालाद्जिनस्काया को 8-7 से पटखनी दे दी। 53 किलो की महिला कुश्ती में वेनेसा ने आक्रामक आगाज किया और शुरुआती कुछ सेकेंडों में ही पिंकी को गिराकर दो अंक अर्जित किए। लेकिन पिंकी शानदार  तकनीक दिखाते हुए नियर फॉल के जरिये चार अंक बटोर लिये। ब्रेक के समय वेनेसा किसी तरह एक अंक की बढ़ता बनाने में सफल रही थीं और उन्होंने फिर पिंकी को पटकी देकर दो और अंक जुटाए। अंतिम क्षणों में पिंकी ने बेलारूसी पहलवान को गिरा करके अप्रत्याशित जीत हासिल की। पिकी की रोमांचक जीत से सुल्तांस ने 3-1 से अपनी बढ़त को मजबूत कर लिया।

जैसे कि पहले से ही उम्मीद की जा रही थी 86 किलो  और सुपर हैवीवेट (125 किलो) कटेकरी के मुकाबले यूपी  दंगल  के विदेशी पहलवानों इराकी मिसितुरी और जॉर्जी साकेंडेलिजे ने जीत हासिल करके टाई को 3-3 की  बरबरी पर ला दिया। जॉर्जियाई पहलवान इराकी ने 86 किलो में प्रवीण को और सुपर हैवीवेट में कतर के जॉर्जी ने सतेंदर मलिक को हराया। दोनों की जीत का अंतर 6-0 रहा। इन परिणामों के बाद टाई का अंतिम मुकाबला निर्णायक बन गया।

Comment As:

Comment (0)