12 अगस्त का पंचांग, जानिए शुभ मुहूर्त और राहूकाल

Breaking news

12 अगस्त का पंचांग, जानिए शुभ मुहूर्त और राहूकाल

Author J2M Astro    New Delhi 41

पंचांग या पञ्चाङ्गम् संस्कृत भाषा का शब्द है, जिसका शब्दशः मतलब है पांच अंगों से युक्त वस्तु। इसलिए, पंचांग इन 5 अनिवार्य अंगों से मिलकर बनता है - तिथि, वार, योग, नक्षत्र और करण। इनके अतिरिक्त आधुनिक हिन्दू पंचांग में पर्व, राशिफल, ज़रूरी तारीख़ें और कई अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां भी शामिल होती हैं। हिन्दू धर्म में हिन्दी पंचांग के परामर्श के बिना शुभ कार्य जैसे शादी, नागरिक सम्बन्ध, महत्वपूर्ण कार्यक्रम, उद्घाटन समारोह, परीक्षा, साक्षात्कार, नया व्यवसाय या अन्य किसी तरह के शुभ कार्य नहीं किये जाते।  आज का पंचांग आपको प्रत्येक ज़रूरी मुहूर्त, दिशा शूल, सूर्योदय व सूर्यास्त, चन्द्रोदय व चन्द्रास्त आदि बहुत-सी सूचनाएं उपलब्ध कराएगा।

दैनिक पंचांग रविवार, 12 अगस्त, 2018  
तिथि : प्रतिपदा - 11:56 तक
नक्षत्र : मघा - 21:27 तक
करण : बव - 11:56 तक
          बालव - 22:15 तक
पक्ष : शुक्ल
योग : वरियान - 07:41 तक 
         परिघ - 27:51 तक
वार : रविवार

हिन्दू मास एवं वर्ष
शक सम्वत : 1940 विलम्बी
विक्रम सम्वत : 2075
काली सम्वत : 5120
दिन काल : 13:15
मास अमांत : श्रावण
मास पूर्णिमांत : श्रावण

सूर्य व चन्द्र से संबंधित गणनाएं
सूर्योदय : 05:48
सूर्यास्त : 19:04
चन्द्रोदय : 06:32
चन्द्रास्त : 19:59
सूर्य राशि : कर्क
चन्द्र राशि : सिंह
ऋतु : वर्षा

शुभ समय (शुभ मुहूर्त)
अभिजित : 12:00 से 12:53 तक
अमृत कालम् : कोई नहीं

अशुभ समय (अशुभ मुहूर्त)
दुष्टमुहूर्त : 17:18 से 18:11 तक
कुलिक : 17:18 से 18:11 तक
कंटक : 10:13 से 11:07 तक
गुलिक काल : 15:45 से 17:24 तक
राहू काल : 17:24 से 19:04 तक
यमगण्ड : 12:26 से 14:05 तक
यमघण्ट : 13:46 से 14:39 तक
व्रज्याम काल : कोई नहीं
कालवेला/अर्द्धयाम : 12:00 से 12:53 तक

दिशा शूल : पश्चिम

चन्द्रबल और ताराबल
ताराबल : अश्विनी, भरणी, कृत्तिका, मृगशीर्षा, पुनर्वसु, आश्लेषा, मघा, पूर्वा फाल्गुनी, उत्तर फाल्गुनी, चित्रा, विशाखा, ज्येष्ठा, मूल, पूर्वाषाढा, उत्तराषाढा, धनिष्ठा, पूर्वभाद्रपदा, रेवती
चन्द्रबल : मिथुन, सिंह, तुला, वृश्चिक, कुम्भ, मीन

© 2018. ALL RIGHTS RESERVED Just2minute Media pvt ltd