UPTET 2018: आज भी नहीं चल रही यूपी टीईटी की वेबसाइट, सर्वर ने किया परेशान

Breaking news

UPTET 2018: आज भी नहीं चल रही यूपी टीईटी की वेबसाइट, सर्वर ने किया परेशान

Author J2M aducation desk    new delhi 443

नई दिल्ली। UPTET 2018 उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा: आज भी यूपी टीईटी की वेबसाइट सर्वर के न चलने के कारण अभ्यर्थी टीईटी के लिए ऑनलाइन आवेदन नहीं कर पा रहे हैं। बुधवार की सुबह सर्वर ठीक तो हुआ लेकिन बार-बार बाधित हो जाने  से अभ्यर्थियों की परेशानी हफ्ते भर से जस की तस बनी रही। मायूस अभ्यर्थियों का कहना है कि अब तो आवेदन की तिथि बढ़ा दी जाए, यही एक मात्र विकल्प है।

शासन ने टीईटी के लिए ऑलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 4 अक्तूबर तय कर रखी है। ऑनलाइन आवेदन शुरू हुआ तो अभ्यर्थियों के आंखों से नींद गायब हो गई। इस बार आवेदन के समय अभ्यर्थियों से तीन विकल्प मांगे गए। पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और पासपोर्ट। हजारों की संख्या में अभ्यर्थी ऐसे रहे जिनके पास यह तीनों विकल्प नहीं था। अभ्यर्थियों ने सोचा था कि आधार कार्ड रहेगा तो ऑनलाइन आवेदन करने में आसानी होगी। इस बार आधार कार्ड मांगा ही नहीं गया।

शुक्र है कि शासन ने अभ्यर्थियों की समस्या महसूस की और आवेदन के लिए एक और विकल्प मतदाता पहचान पत्र का दे दिया। इस विकल्प के आ जाने के बाद आवेदन की गति बढ़ी तो सर्वर दगा दे गया। साइबर कैफे पर देर रात तक अभ्यर्थी लाइन में खड़े रह जाते और अंत में मायूस होकर घर लौट जाते। हफ्ते भर से परेशान अभ्यर्थियों के चेहरे पर बुधवार को थोड़ी रौनक लौटी जब उन्हें यह मालूम हुआ कि सर्वर ठीक हो गया है। वे साइबर कैफे की तरफ दौड़ पड़े। जो जिस तरह पहुंचा, लाइन में लग गया। सर्वर ठीक तो हुआ लेकिन बीच-बीच में बाधित हो जाने के कारण अभ्यर्थियों को काफी दिक्कत हुई। 'हिन्दुस्तान' ने बुधवार की दोपहर बाद शहर के कुछ साइबर कैफे की पड़ताल की तो दिक्कतें सामने आईं। 

दोपहर : 02 बजे
सिंह साइबर कैफे पर दर्जनों छात्र टीईटी का ऑनलाइन फार्म भरने के लिए खड़े थे, संचालक ने फार्म भरना शुरू किया। कुछ देर तक सब सही चला लेकिन जब ओटीपी अपडेट करने का वक्त आया तो फिर सर्वर डाउन हो गया और फार्म नहीं भरा जा सका। ऐसी ही दिक्कतों का सुबह से कैफे संचालक और फार्म भरने आये छात्र सामना कर रहे थे।

दोपहर : 03 बजे
श्रीराम इंटरनेट कैफे पर स्कूल ड्रेस में आईं लड़कियां टीईटी फार्म भरने के लिए कैफे संचालक से कह रही थी। कैफे संचालक का जवाब था कि जब सर्वर ही नहीं चल रहा है तो फार्म कैसे भरें। घंटो इंतजार करने के बाद जब सर्वर चलना शुरू हुआ तो लड़कियां अपना-अपना फार्म पहले भरवाने की बात कहने लगी जिससे हल्की-फुल्की नोकझोंक भी हुई।

दोपहर : 3.30 बजे
सिविल लाइन स्थित साइबर कैफे में बिल्कुल सन्नाटा था। ऐसा नहीं था कि यहां कोई टीईटी का फार्म भरवाने आया नहीं था बल्कि कैफे संचालक ने सर्वर की समस्या से त्रस्त होकर टीईटी फार्म भरने से मना ही कर दिया। 

दोपहर : 3:45
महादेव साइबर कैफे पर टीईटी फार्म भरने आये तमाम लड़के-लड़कियां कुछ देर के लिए खुश थे क्योंकि सर्वर ने काम शुरू कर दिया था। देखते ही देखते कई फार्म भर गये लेकिन यह खुशी लोगों को ज्यादा देर तक के लिए नहीं थी। थोड़ी ही देर बाद सर्वर बहुत धीमा चलने लगा, बढ़ते ट्रैफिक की वजह से सर्वर पूरी तरह डाऊन हो गया और फार्म नहीं भर सके। 

लाइन में लगे अभ्यर्थियों ने कहा
बीते दस दिन से टीईटी ऑनलाइन आवेदन करने के लिए प्रयासरत था। बुधवार को काफी दिक्कतों के बाद आवेदन कर सका हूं। दस दिन में मैं फार्म भरने के चक्कर में दूसरा काम नहीं कर सका।

25 सितम्बर से सर्वर डाउन था। रोजाना 30 से 40 अभ्यर्थी आते थे और लौट जाते थे। मंगलवार की देर शाम को 2 घंटे सर्वर चला। आज रुक-रुक चल रहा है।

© 2018. ALL RIGHTS RESERVED Just2minute Media pvt ltd